Gunakar Muley/गुणाकर मुळे
लोगों की राय

लेखक:

गुणाकर मुळे
जन्म : विदर्भ के अमरावती जिले के सिंदी बुजरूक गांव में, 1935 ई. में।

शिक्षा : आरंभिक पढ़ाई गांव के मराठी माध्यम के स्कूल में। स्नातक और स्नातकोत्तर (गणित) अध्ययन इलाहाबाद विश्वविद्यालय में।

सम्प्रति : आरंभ से ही स्वतंत्र लेखन । सन् 1958 से विज्ञान, विज्ञान का इतिहास, पुरातत्व, पुरालिपिशास्र, मुद्राशास्र और भारतीय इतिहास व संस्कृति से संबंधित विषयों पर लेख तथा पुस्तकें लिखते आ रहे हैं, प्रमुखतः हिंदी में और कभी-कभी अंग्रेजी में। करीब 35 मौलिक पुस्तकें और 3000 से ऊपर लेख हिंदी में और लगभग 250 लेख अंग्रेजी में प्रकाशित। विज्ञान, इतिहास और दर्शन से संबंधित दर्जन-भर ग्रंथों का हिंदी में अनुवाद। सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र (नई दिल्ली) द्वारा अध्यापकों के लिए आयोजित प्रशिक्षण-शिविरों में लगभग एक दशक तक वैज्ञानिक विषयों पर व्याख्यान देते रहे। भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद (नई दिल्ली) द्वारा प्रदत्त सीनियर फैलोशिप के अंतर्गत ‘भारतीय विज्ञान और टेक्नालॉजी का इतिहास' से संबंधित साहित्य का अध्ययन-अनुशीलन। विज्ञान प्रसार (विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार) के दो साल फैलो रहे।

प्रमुख कृतियां: अक्षर-कथा, भारत: इतिहास और संस्कृति, आकाश-दर्शन, संसार के महान गणितज्ञ, तारों भरा आकाश, भारतीय इतिहास में विज्ञान, नक्षत्र-लोक, अंतरिक्ष-यात्रा, सौरमंडल, महापंडित राहुल सांकृत्यायन, महाराष्ट्र के दुर्ग, गणितज्ञ-ज्योतिषी आर्यभट, भारतीय अंक-पद्धति की कहानी, भारतीय लिपियों की कहानी, भारतीय विज्ञान की कहानी ।

पुरस्कार-सम्मान : हिंदी अकादमी (दिल्ली) का साहित्य सम्मान पुरस्कार। केंद्रीय हिंदी संस्थान (आगरा) का आत्माराम पुरस्कार। बिहार सरकार के राजभाषा विभाग का जननायक कपूरी ठाकुर पुरस्कार। मराठी विज्ञान परिषद् (मुंबई) द्वारा श्रेष्ठ विज्ञान-लेखन के लिए सम्मानित । ‘आकाश-दर्शन’ व ‘संसार के महान गणितज्ञ' ग्रंथों के लिए प्रथम मेघनाद साहा पुरस्कार। राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद् (NCSTC) का राष्ट्रीय पुरस्कार।

पता : 'अमरावती', सी-210, पांडव नगर, दिल्ली-110092
यह पुस्तक/पुस्तकें उपलब्ध नहीं हैं

 

  View All >>   0 पुस्तकें हैं|