Khalil Jibbran/खलील जिब्रान
लोगों की राय

लेखक: खलील जिब्रान
जन्म : 6 फरवरी 1883।

जन्म-स्थान : माउन्ट लेबनान (सीरिया)।

निधन : 10 अप्रैल, 1931, न्यूयार्क।

खलिल जिब्रान का जन्म लेबनान प्रान्त के बशरी नामक गांव में मैरोनाइट चर्च सम्प्रदाय में हुआ था। इनके पिता का नाम खलील और माता का नाम कामिला था। ये अपने माता-पिता की प्रथम संतान थे व इनका संबंध उत्तरी लेबनान के एक अमीर घराने से था। इन्होंने चित्रकला का बहुत गहन अध्यन किया और अपनी समस्त पुस्तकों को अपने बनाये हुए चित्रों से विभूषित किया। अपना सारा जीवन साहित्य और कला की सेवा में लगा दिया।

खलील जिब्रान ने अपने जीवन में अनेकों कहानियों की रचना की। इन कहानियों में इन्होंने समाज, व्यक्ति, धार्मिक पाखण्ड, वर्ग, संघर्ष, प्रेम, न्याय, कला आदि विषयों को आधार बनाया। इनकी कहानियों में पाखण्ड के प्रति गहरा विद्रोह स्पष्ट परिलक्षित होता है। इसके अतिरिक्त इनके साहित्य में जीवन के प्रति गहरी अनुभूति, संवेदनशीलता, भावात्मकता व व्यंग्य भी परिलक्षित होता है।

कृतियाँ :

‘The Wanderer’ (आवारा), ‘Send and Foam’ (रेत और झाग), खलील जिब्रान की सर्वश्रेष्ठ कहानियां : (कब्रों का विलाप, अंधेरे में उजाला, नई दुलहिन, दोस्त की वापसी, सवेरे की रोशनी, पागल जान, अद्भुत तथ्य, महाकवि, आत्मज्ञान, पेड़ की कहानी उसी की जुबानी, रंगे हुए गीदड़, वह स्त्री, रोग, अपना-अपना देश, मैं और तुम, विद्रोही आत्माएं, शैतान, गुलामी, आकांक्षी पुष्प, उत्सव, हृदय-रहस्य, गुप्त प्रेम, तूफान, इंसाफ, तीन चीटियां, पवित्र नगर, सदियों की राख, सीरिया का अकाल, मुर्दों के बीच, दुख के गीत, ‘एक आंसू, एक मुस्कान’, ‘एक मुस्कान, एक आंसू’, कवि की मृत्यु, खंडहरों के बीच, गरुड़ और चकवा, नबी और बालक, सम्राट, दो संरक्षक देवदूत, मेंढ़क, जाद की समर भूमि, दो काव्य, एक बहरी महिला, खोज।)।

अंतिम संदेश

खलील जिब्रान

विचार प्रधान कहानियों के द्वारा मानवता के संदेश

  आगे...

 

  View All >>   1 पुस्तकें हैं|