मीडिया के मानक और लोग - प्रशान्त दुबे Media Ke Manak Aur Log - Hindi book by - Prashant Dubey
लोगों की राय

पत्र एवं पत्रकारिता >> मीडिया के मानक और लोग

मीडिया के मानक और लोग

प्रशान्त दुबे

प्रकाशक : विकास संवाद प्रकाशित वर्ष : 2011
पृष्ठ :88 पुस्तक क्रमांक : 8898

Like this Hindi book 2 पाठकों को प्रिय

70 पाठक हैं

भूमंडलीकरण की बीस सालों की प्रक्रिया के बाद अब विकास के तय मानकों के बीच से हरीबी, लाचारी, बेबसी का चेहरा साफ नजर आता है...

Ek Break Ke Baad

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

भूमंडलीकरण की बीस सालों की प्रक्रिया के बाद अब विकास के तय मानकों के बीच से हरीबी, लाचारी, बेबसी का चेहरा साफ नजर आता है। तमाम जाले साफ हुये हैं। विकास की पक्षधरता सबके हित में समान रूप से नहीं है। आंकड़ों के खेल कुछ और तस्वीरें बयां करते हैं, पर सच्चाई कुछ और है।

पर क्या मीडिया भी इस पूरी तस्वीर को साफ तौर पर समझ पा रहा है। समझ रहा है तो क्या उस पर पर्याप्त सवाल खड़े हो रहे हैं?

To give your reviews on this book, Please Login