List of Hindi Novels at Pustak.org - पुस्तक.आर्ग पर उपन्यासों का संग्रह
लोगों की राय

उपन्यास

वापसी

गुलशन नन्दा

सदाबहार गुलशन नन्दा का रोमांटिक उपन्यास   आगे...

श्रीकान्त

शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय

शरतचन्द्र का आत्मकथात्मक उपन्यास   आगे...

पिया की गली

कृष्ण गोपाल आबिद

भारतीय समाज के परिवार के विभिन्न संस्कारों एवं जीवन में होने वाली घटनाओं का मार्मिक चित्रण   आगे...

पथ के दावेदार

शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय

हम सब राही हैं। मनुष्यत्व के मार्ग से मनुष्य के चलने के सभी प्रकार के दावे स्वीकार करके, हम सभी बाधाओं को ठेलकर चलेंगे। हमारे बाद जो लोग आएंगे, वह बाधाओं से बचकर चल सकें, यही हमारी प्रतिज्ञा है।   आगे...

नीलकण्ठ

गुलशन नंदा

गुलशन नन्दा का एक और रोमांटिक उपन्यास

  आगे...

नदी के द्वीप

अज्ञेय

व्यक्ति अपने सामाजिक संस्कारों का पुंज भी है, प्रतिबिम्ब भी, पुतला भी; इसी तरह वह अपनी जैविक परम्पराओं का भी प्रतिबिम्ब और पुतला है-'जैविक' सामाजिक के विरोध में नहीं, उससे अधिक पुराने और व्यापक और लम्बे संस्कारों को ध्यान में रखते हुए।   आगे...

कुसम कुमारी

देवकीनन्दन खत्री

रहस्य और रोमांच से भरपूर कहानी

  आगे...

खजाने का रहस्य

कन्हैयालाल

भारत के विभिन्न ध्वंसावशेषों, पहाड़ों व टीलों के गर्भ में अनेकों रहस्यमय खजाने दबे-छिपे पड़े हैं। इसी प्रकार के खजानों के रहस्य   आगे...

कंकाल

जयशंकर प्रसाद

कंकाल भारतीय समाज के विभिन्न संस्थानों के भीतरी यथार्थ का उद्घाटन करता है। समाज की सतह पर दिखायी पड़ने वाले धर्माचार्यों, समाज-सेवकों, सेवा-संगठनों के द्वारा विधवा और बेबस स्त्रियों के शोषण का एक प्रकार से यह सांकेतिक दस्तावेज हैं।

  आगे...

देवदास

शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय

कालजयी प्रेम कथा

  आगे...

देहाती समाज

शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय

ग्रामीण जीवन पर आधारित उपन्यास

  आगे...

सूरज का सातवाँ घोड़ा

धर्मवीर भारती

'सूरज का सातवाँ घोड़ा' एक कहानी में अनेक कहानियाँ नहीं, अनेक कहानियों में एक कहानी है। वह एक पूरे समाज का चित्र और आलोचन है; और जैसे उस समाज की अनंत शक्तियाँ परस्पर-संबद्ध, परस्पर आश्रित और परस्पर संभूत हैं, वैसे ही उसकी कहानियाँ भी।

  आगे...

राख और अंगारे

गुलशन नंदा

मेरी भी एक बेटी थी। उसे जवानी में एक व्यक्ति से प्रेम हो गया।

  आगे...

परम्परा

गुरुदत्त

भगवान श्रीराम के जीवन की कुछ घटनाओं को आधार बनाकर लिखा गया उपन्यास

  आगे...

काँच की चूड़ियाँ

गुलशन नंदा

एक सदाबहार रोमांटिक उपन्यास

  आगे...

कलंकिनी

गुलशन नंदा

यह स्त्री नहीं, औरत के रूप में नागिन है…समाज के माथे पर कलंक है।   आगे...

कटी पतंग

गुलशन नंदा

एक ऐसी लड़की की जिसे पहले तो उसके प्यार ने धोखा दिया और फिर नियति ने।

  आगे...

जलती चट्टान

गुलशन नंदा

हिन्दी फिल्मों के लिए लिखने वाले लोकप्रिय लेखक की एक और रचना

  आगे...

गुनाहों का देवता

धर्मवीर भारती

संवेदनशील प्रेमकथा।

  आगे...

घाट का पत्थर

गुलशन नंदा

लिली-दुल्हन बनी एक सजे हुए कमरे में फूलों की सेज पर बैठी थी।   आगे...

गंगा और देव

आशीष कुमार

आज…. प्रेम किया है हमने….   आगे...

फ्लर्ट

प्रतिमा खनका

जिसका सच्चा प्यार भी शक के दायरे में रहता है। फ्लर्ट जिसकी किसी खूबी के चलते लोग उससे रिश्ते तो बना लेते हैं, लेकिन निभा नहीं पाते।   आगे...

एक नदी दो पाट

गुलशन नंदा

'रमन, यह नया संसार है। नव आशाएँ, नव आकांक्षाएँ, इन साधारण बातों से क्या भय।   आगे...

अपने अपने अजनबी

अज्ञेय

अज्ञैय की प्रसिद्ध रचना

  आगे...

प्रगतिशील

गुरुदत्त

इस लघु उपन्यास में आचार-संहिता पर प्रगतिशीलता के आघात की ही झलक है।

  आगे...

पाणिग्रहण

गुरुदत्त

संस्कारों से सनातन धर्मानुयायी और शिक्षा-दीक्षा तथा संगत का प्रभाव

  आगे...

दो भद्र पुरुष

गुरुदत्त

दो भद्र पुरुषों के जीवन पर आधारित उपन्यास...

  आगे...

धरती और धन

गुरुदत्त

बिना परिश्रम धरती स्वयमेव धन उत्पन्न नहीं करती।  इसी प्रकार बिना धरती (साधन) के परिश्रम मात्र धन उत्पन्न नहीं करता।

  आगे...

प्रारब्ध और पुरुषार्थ

गुरुदत्त

प्रथम उपन्यास ‘‘स्वाधीनता के पथ पर’’ से ही ख्याति की सीढ़ियों पर जो चढ़ने लगे कि फिर रुके नहीं।

  आगे...

मैं न मानूँ

गुरुदत्त

मैं न मानूँ...

  आगे...

सुमति

गुरुदत्त

बुद्धि ऐसा यंत्र है जो मनुष्य को उन समस्याओं को सुलझाने के लिए मिला है।

  आगे...

बनवासी

गुरुदत्त

नई शैली और सर्वथा अछूता नया कथानक, रोमांच तथा रोमांस से भरपूर प्रेम-प्रसंग पर आधारित...

  आगे...

नास्तिक

गुरुदत्त

खुद को आस्तिक समझने वाले कितने नास्तिक हैं यह इस उपन्यास में बड़े ही रोचक ढंग से दर्शाया गया है...

  आगे...

आशा निराशा

गुरुदत्त

जीवन के दो पहलुओं पर आधारित यह रोचक उपन्यास...

  आगे...

आंख की किरकिरी

रबीन्द्रनाथ टैगोर

नोबेल पुरस्कार प्राप्त रचनाकार की कलम का कमाल-एक अनूठी रचना.....

  आगे...

 

  View All >> इस संग्रह में कुल 35 पुस्तकें हैं|