Social Hindi Novels - सामाजिक उपन्यास
लोगों की राय

उपन्यास >> सामाजिक

परिणीता

शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय

‘परिणीता’ एक अनूठी प्रणय कहानी है, जिसमें दहेज प्रथा की भयावहता का चित्रण किया गया है।   आगे...

रंगभूमि (उपन्यास)

प्रेमचन्द

नौकरशाही तथा पूँजीवाद के साथ जनसंघर्ष का ताण्डव; सत्य, निष्ठा और अहिंसा के प्रति आग्रह, ग्रामीण जीवन में उपस्थित मद्यपान तथा स्त्री दुर्दशा का भयावह चित्र यहाँ अंकित है   आगे...

प्रेमाश्रम (उपन्यास)

प्रेमचन्द

‘प्रेमाश्रम’ भारत के तेज और गहरे होते हुए राष्ट्रीय संघर्षों की पृष्ठभूमि में लिखा गया उपन्यास है   आगे...

 

   3 पुस्तकें हैं|