Saral Prakashan/सरल प्रकाशन
लोगों की राय

सरल प्रकाशन की पुस्तकें :

1857 का संग्राम

वि. स. वालिंबे

संक्षिप्त और सरल भाषा में 1857 के संग्राम का वर्णन

  आगे...

अपने अपने अजनबी

सच्चिदानंद हीरानन्द वात्स्यायन अज्ञेय

अज्ञैय की प्रसिद्ध रचना

  आगे...

अवतरण

गुरुदत्त

हिन्दुओं में यह किंवदंति है कि यदि महाभारत की कथा की जायें तो कथा समाप्त होने से पूर्व ही सुनने वालों में लाठी चल जाती है।

  आगे...

आराधना

सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला

जीवन में सत्य, सुंदर को बखानती कविताएँ   आगे...

आशा निराशा

गुरुदत्त

जीवन के दो पहलुओं पर आधारित यह रोचक उपन्यास...

  आगे...

दो भद्र पुरुष

गुरुदत्त

दो भद्र पुरुषों के जीवन पर आधारित उपन्यास...

  आगे...

धरती और धन

गुरुदत्त

बिना परिश्रम धरती स्वयमेव धन उत्पन्न नहीं करती।  इसी प्रकार बिना धरती (साधन) के परिश्रम मात्र धन उत्पन्न नहीं करता।

  आगे...

नास्तिक

गुरुदत्त

खुद को आस्तिक समझने वाले कितने नास्तिक हैं यह इस उपन्यास में बड़े ही रोचक ढंग से दर्शाया गया है...

  आगे...

परम्परा

गुरुदत्त

भगवान श्रीराम के जीवन की कुछ घटनाओं को आधार बनाकर लिखा गया उपन्यास

  आगे...

पाणिग्रहण

गुरुदत्त

संस्कारों से सनातन धर्मानुयायी और शिक्षा-दीक्षा तथा संगत का प्रभाव

  आगे...

12   15 पुस्तकें हैं|